समता नगर के आरोपी के खिलाफ प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और उसकी जमानत रद्द करने की मनियार बिरादरी की मांग

जलगांव: —

एजाज़ गुलाब शाह
जलगाव –रामानंद नगर पुलिस स्टेशन में 17 दिसंबर 19 को एक नाबालिग लड़की के अपहरण और प्रताड़ना का मामला भादवि के धारा 376,363,354,366 और पोक्सो के धारा 3 और 4 के तहत अपराध रजिस्टर नंबर 209/19 के तहत दर्ज किया गया है। अदालत में इसकी विशेष संख्या 96/20 है। पांच आरोपियों में से चार जमानत पर रिहा हो चुके हैं और एक अभी भी फरार है।

*मुख्य आरोपी बंसोड की पुनरावृत्ति*

मुख्य आरोपी सुमित उर्फ ​​मोन्या सुधाकर बंसोड ने समता नगर जलगांव से 23 फरवरी को अपहरण कर लिया गया। पीड़िता की मां एक शिकायत दर्ज कराने के लिए रामानंदनगर पुलिस स्टेशन गई और एक गुमशुदगी रिपोर्ट दर्ज की गई। पोलीस ने ऊन दोनो को पकडकर पोलीस थाने लाया जब पीड़िता की मां, पिता और भाई उसे लेने गए। पीड़िता ने उनके साथ आने से इनकार कर दिया और कहा कि वह आरोपी के साथ रहेगी।

*एक साल में पीड़ितों पर दबाव*

चूंकि पीड़िता और आरोपी एक ही गली में रह रहे थे और कोर्ट में केस चल रहा था, इसलिए आरोपी ने 18 फरवरी को पीड़िता की मां और पीड़िता को धमकी दी थी कि अगर उन्होंने केस वापस नहीं लिया तो वे उसकी देख लेगे और 23 फरवरी को पीडिता का अपहरण कर लिया। पीड़िता ने सबके सामने अपनी मा से कहा कि हमने जो पाहिले केस की है उसे वापस ले लो अन्यथा मैं आरोपी के साथ जाऊंगी

*पीड़िता, अब 18 वर्ष की हो गई, लेकिन यह संभव है कि उसने येह निर्णय भय से लीया हो।*

उसी पीड़िता ने पाहिले केस मे माननीय न्यायालय के समक्ष आरोपी के खिलाफ 164 का इकबालिया बयान दिया है और उसके साथ हुए अन्याय का उल्लेख किया है। नतीजतन, पुलिस ने अस्थायी रूप से पीडिता को आशादीप महिला छात्रावास में रखा है।

*अनैतिक रवैये के कारण दो समाजों के बीच विभाजन की संभावना*

दो समुदायों के बीच किसी भी दरार से बचने के लिए, जलगाँव जिला मनियार बिरादरी के अध्यक्ष फारूक शेख, महिला सुरक्षा समिति की निवेदिता ताठे और रोशनी फाउंडेशन के अनवर खान ने पुलिस अधीक्षक डॉ मुंडे और पुलिस निरीक्षक अनिल बडगूजर से मुलाकात की और उन्हें एक निवेदन दिया। और उसमे यह मांग की गई है कि *आरोपी की जमानत रद्द कर दी जाए क्योंकि आरोपी पीड़ित, उसके रिश्तेदारों और गवाहों पर दबाव डाल रहा है और ऊस के और साथिओ के खिलाफ सिरीयस चापटर केस करके हवालात भेंजदिया जाये।*
निवेदन की प्रतियां जिला सत्र न्यायाधीश और सहायक पुलिस अधीक्षक जलगांव को भी सौंपी गई हैं।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close