समाज के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक उत्थान के लिए कार्य करते रहेंगे–वेदप्रकाश उपाध्याय

राजस्थान संपादक एवं ब्यूरो चीफ
यतेन्द्र पाण्डेय् के साथ
भरतपुर से

अम्रत भारद्वाज की रिपोर्ट

भरतपुर — समाज के सामाजिक, आर्थिक एवं राजनीतिक उत्थान के लिए कार्य करते रहेंगे। वर्तमान परिपेक्ष में विप्र समाज की स्थिति का अवलोकन करने पर जिस तरह की धारणा सामने आई आती है। उन्हें हमें मंथन करना होगा ।यह कहना है विप्र फाउंडेशन जोन 1डी के प्रदेश अध्यक्ष वेदप्रकाश उपाध्याय का।

उपाध्याय जोन 1डी द्वारा मार्च माह में आयोजक विप्र रत्न 2021 सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता मैं जिला स्तर पर प्रथम 3 स्थानों पर आये प्रभागी/विद्यार्थियों के लिए आयोजित सम्मान समारोह में मुख्य अतिथि पद से अपना उद्बोधन दे रहे थे।

उपाध्याय ने कहा कि यह एक विचारणीय बिंदु है की हम एक दूसरे के साथ वार्ता करते हुए अन्य समाज पर उपेक्षा करने का आरोप लगाते हैं। यह एक निराधार मत है । कोई किसी से मतभेद नहीं रखता हम अपने मूल कार्यों से विमुख होते जा रहे हैं जिसके कारण हमारी वर्तमान स्थिति के लिए हम स्वयं जिम्मेदार हैं ।अन्य कोई नहीं ,समाज के सामाजिक हार्दिक एवं राजनीतिक स्थितियों के लिए हम स्वयं अपना मंथन करें। हमारे अग्रजो के आचार विचार खानपान संस्कृति एवं विचार शक्ति आध्यात्मिक ज्ञान के साथ मन को आत्म संयतकर ब्रह्मांड में विचरण हेतु प्रेरित करना। जिससे भारतीय संस्कृति की स्थापना हुई ,क्या हम भी ऐसे कार्य कर रहे हैं। विप्र फाउंडेशन विशेषकर मैं स्वयं समाज के सामाजिक आर्थिक राजनीतिक उत्थान के लिए परस्पर कार्य करता रहूंगा ।

मुख्य अतिथि प्रदेशाध्यक्ष वेदप्रकाश उपाध्याय ने अपने भाषण में कहा कि समाज को आपसी सहयोग की भावना रखते हुए काम करना चाहिए ।समाज को गरीब कन्याओं के विवाह हेतु सामूहिक विवाहो का आयोजन करना चाहिए जिसमें सामाज के हर एक व्यक्ति को अपना आर्थिक, शारारिक और मानसिक रुप से सहयोग करना चाहिये । लंबे समय से समाज में व्याप्त कुप्रथाओ आपसी सहमति से अब बंद कर देना ही उचित है। अपने भाषण में आर्थिक रूप से कमजोर ब्राह्मण बालक जो दूर गाँव से पढ़ने आते है। उनके लिए ब्राह्मण छात्रावास भरतपुर समाज के योगदान से बने जिसके लिए घर घर जाकर चन्दा एकत्र करो जिससे बच्चो को शिक्षा प्राप्त करने मे सुगमता हो ।
ब्राह्मण अपने कर्म को न भूलें और अपने बौद्धिक विकास के लिए चिंतन और आत्म मंथन करे।
इसके उपरान्त अध्यक्षीय भाषण में श्रीमती इंद्रा त्यागी ने समाज की महिलाओं से आग्रह किया कि वह भी समाज के कार्यक्रमो एव समाज उत्थान में अपनी महती भूमिका निभाए।
हमें अपने समाज के लिए सतत कार्य करते रहना चाहिए इसमें सफलता अवश्य मिलती है जिस प्रकार विप्र फाउंडेशन जॉन 1ए जयपुर मुख्यालय पर मुख्य सचेतक महेश शर्मा को ईडब्ल्यूएस के युवाओं को विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में आयु सीमा एवं फीस में छूट के लिए अनुरोध किया गया था। उपाध्याय ने बताया कि मुख्य सचेतक महेश शर्मा ने आश्वस्त किया था कि वर्तमान विधानसभा क्षेत्र में इसका मुख्यमंत्री से बात कर हल निकालने की कोशिश करेंगे उनके प्रयास से ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा सत्र में ई डब्ल्यू एस के प्रतिभागियों को आयु एवं फीस मैं छूट देकर शर्मा ने अपना वायदा पूरा किया। यह विप्र फाउंडेशन के लिए बड़ी उपलब्धि है। कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवानिवृत्त संयुक्त निदेशक शिक्षा श्रीमती इंदिरा त्यागी ने की। विशिष्ट अतिथि प्रदेश संगठन महामंत्री शांतनु पाराशर रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ भगवान परशुराम की चित्रपट पर माल्यार्पण दीप प्रज्वलन के साथ गणेश वंदना मां शारदे वंदना एवं भगवान परशुराम की आरती के साथ हुआं। फाउंडेशन के जिला उपाध्यक्ष एवं विप्र रत्न 2021 परीक्षा प्रभारी केदारनाथ पाराशर ने स्वागत भाषण प्रस्तुत किया। अतिथियो का माला एवं अंग वस्त्र पहिना कर विप्र फॉउंडेशन के प्रदेशाध्यक्ष (युवा) इन्दुशेखर शर्मा, प्रदेश महामंत्री एवं जिला प्रभारी दयाचन्द पचौरी, जिला समन्वयक विनोद बिहारी भारद्वाज, प्रदेश महामंत्री (महिला प्रकोष्ठ) बबिता शर्मा, प्रदेश सचिव यतेंद्र पांडेय ,प्रदेश उपाध्यक्ष(युवा) मनीष भाँडोर, प्रदेश महामंत्री(युवा) अमृत भारद्वाज, प्रदेश महामंत्री(युवा) अभिषेक तिवारी, प्रदेश सचिव( युवा) देवाशीष भारद्वाज, प्रदेश सचिव(युवा) कमल कांत त्यागी ने स्वागत किया।
——————
प्रथम तीन पायदानों आते प्रतिभागियों का सम्मान

विप्र रत्न प्रतियोगिता 2021 के जिला स्तरिय मैरिट के टॉप-3 विजेताओं को विप्र फॉउंडेशन ज़ोन-1 डी के प्रदेशाध्यक्ष वेदप्रकाश उपाध्याय, प्रदेश संगठन महामंत्री शान्तनु पाराशर, प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष गंगाराम पाराशर, प्रदेश महामंत्री एवं जिला प्रभारी दयाचन्द पचौरी, प्रदेशाध्यक्ष(युवा) इन्दुशेखर शर्मा, जिला समन्वयक विनोद बिहारी भारद्वाज, प्रदेश महामंत्री (महिला प्रकोष्ठ) बबिता शर्मा द्वारा प्रतियोगिता में प्रथम आये चन्द्रकान्त शर्मा को 5100 रुपये नगद पुरस्कार ट्रॉफ़ी एवं प्रशस्ति पत्र, परीक्षा में द्वितीय स्थान पर आई रुचि शर्मा को 4100 रुपये नगद पुरस्कार ट्रॉफी एवं प्रशस्ति पत्र परीक्षा में तृतीय स्थान पर आए प्रियांशु लवानिया को 3100 रुपये नगद पुरस्कार ट्रॉफी एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गए।
जिलाध्यक्ष (ग्रामीण) ताराचन्द शर्मा एवं जिला महासचिव हेमराज शर्मा द्वारा तीनो मेधावी बालको को शॉल उढ़ाकर मोतियों की माला पहिना कर सम्मानित किया गया।
शांतनु पाराशर जी ने विप्र रत्न प्रतियोगिता के महत्व को समझाया इससे पहली बार ओ.एम.आर शीट पर परीक्षा देने वाले अभ्यर्थियों को सीखने को मिला एवं विप्र फॉउंडेशन के उद्देश्यों से एव सम्पूर्ण भारत मे चल रहे विप्र फॉउंडेशन के विभिन्न प्रकल्पों से सभी को अवगत करवाया।

इसके पश्चात भजन मंडली द्वारा होली के भजन की प्रस्तुति दी गयी विप्र फॉउंडेशन कार्यकारणी द्वारा आगन्तुकों पर पुष्प वर्षा की गई। ।
कार्यक्रम का संचालन जिलाउपाध्यक्ष विपुल शर्मा एवं प्रदीप शर्मा दे किया।
कार्यक्रम समापन पर आभार विप्र फॉउंडेशन के प्रदेश वरिष्ठ उपाध्यक्ष गंगाराम पाराशर ने व्यक्त किया।
इस अवसर पर विप्र फॉउंडेशन के जिलाध्यक्ष (ग्रामीण) ताराचंद शर्मा, जिला उपाध्यक्ष बंटू भाई, जिला महामंत्री सुरेश शर्मा, जिला सचिव पवन पाराशर, राजेन्द्र जति, जिला महामंत्री राज कौशिक , कुलदीप दीक्षित आदि उपस्थित रहे ।
इस अवसर पर समाज के गणमान्य लोगों में गिरधारी तिवारी, कौशलेश शर्मा,इंद्रजीत भारद्वाज, इंजी जीवनलाल शर्मा, महावीर खोखर, बाबूलाल कटारा, श्यामसुंदर गॉड, अनिल भारद्वाज, गौरीशंकर शर्मा, संजय लवानिया,दीपक मुदगल, हरि प्ररोहित,मुकेश शर्मा, नीरू शर्मा,विष्णु शर्मा, गिरीश तिवारी,केशवदेव शर्मा, बलराम पाराशर, मदन मोहन शर्मा, पीयूष जयशंकर टाइगर, बृजेश सिकरौदा, एड. ऋषिपाल तिवारी, सुभाष पाराशर,एड.माखन सिंह कसोदा, कैलाश शर्मा ,माधव भारद्वाज आदि उपस्थित रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close