दहेज हत्या के मामले में मृतका के ससुर फूलसिंह के खिलाफ कार्यवाही की मांग व दहेज के सामान को बरामद करके की मांग

राजस्थान संपादक यतेंद्र पांडेय

संवाददाता घनश्याम दास

अजमेर भिनाय—भिनाय उपखण्ड़ के बांदनवाड़ा के महसिंहपुरा में विगत दिनों हुई दहेज हत्या के मामले में आज मृतका के दादा लक्ष्मण सिंह रावत बनेडिया ने पुलिस अधीक्षक अजमेर,पुलिस महानिरीक्षक अजमेर रेंज तथा पुलिस महानिदेशक को गुहार लगाते हुए मृतका के ससुर फूलसिंह रावत के खिलाफ भी कार्यवाही करने की मांग की है साथ ही विवाह के समय मृतका को दिया हुए 15 तोला सोना व स्त्रीधन को बरामद करने की मांग की है।उक्त अधिकारियों को दिए गए प्रतिवेदन में लक्ष्मण सिंह ने बताया कि मृतका की मृत्यु के बाद घर के सदस्यों ने बताया कि मृतका को उसके ससुर फूलसिंह ने भी दहेज में कार व स्कूटी लाने के लिए परेशान करते हुए कहा था कि तुम्हारे जैसे लोगों से संबंध करने से हमारी प्रतिष्ठा खराब हो गई है।उन्होंने बताया कि फूलसिंह ने कहा कि उनके भाई के पुत्र को विवाह में स्कूटर मिला है,तुमने नहीं दिया इससे समाज में हमारी इज्जत खराब हुई है।लक्ष्मण सिंह ने विवाह में दिए हुए जेवरात व स्त्रीधन की सूची देते हुए आरोपियों से बरामद करने की मांग की है।पुलिस थाना भिनाय में दर्ज प्राथमिकी के अनुसार परिवादी लक्ष्मण सिंह पुत्र हरजी रावत निवासी बनेडिया ने महसिंहपुरा बांदनवाड़ा निवासी वीरेंद्र सिंह पुत्र फूलसिंह के खिलाफ दहेज के लिए प्रताड़ित करने तथा मांग पूरी नहीं करने पर हत्या करने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज करवाया था।रिपोर्ट में दिए गए तथ्यों के अनुसार लक्ष्मण सिंह पुत्र हरजी रावत ने बताया है कि उसकी पौत्री प्रियंका पुत्री किशन सिंह का विवाह दिनांक 11 नवंबर 2020 को महासिंहपुरा बांदनवाड़ा निवासी वीरेंद्र सिंह पुत्र फूलसिंह रावत के साथ संपन्न हुआ था विवाह में हैसियत के अनुसार तथा उससे अधिक बर्तन कपड़े घरेलू सामान जेवरात व नगदी उपहार में दिए थे।शादी से 2 माह पूर्व वीरेंद्र सिंह ने मोबाइल से मैसेज कर दहेज में कार की मांग की थी जिस पर हमारे द्वारा असमर्थता जताई गई थी मैसेज की बात वीरेंद्र के पिता को बताई तो फूलसिंह ने माफी मांगी।तथा कुछ दिनों बाद फिर स्कूटी की मांग की गई।प्रियंका की वीरेंद्र के साथ धूमधाम से शादी संपन्न हुई।विवाह के एक दो महीने बाद वीरेन्द्र फिर प्रियंका को कार लाने के लिए परेशान कर आए दिन मारपीट कर यातनाएं देने लगा।एक माह पूर्व भी मैंने व समाज के लोगों ने उसके घर जाकर उसको समझाया था।जिसके बाद वीरेंद्र सिंह ने प्रियंका को कहा कि मैं दूसरी लड़की से प्यार करता हूं तुझे मेरे साथ रहना है तो तेरे बाप से कार लाकर देनी होगी अन्यथा तुझे जान से मार दूंगा तथा दूसरी लड़की से शादी करूंगा।प्रियंका ने इस बात की हमें जानकारी दी तो रक्षाबंधन पर वापस वीरेंद्र सिंह को समझाने गए।कल सात तारीख को प्रियंका ने मेरे पुत्र दीपक सिंह के फोन पर वीरेंद्र का ऑडियो मैसेज भेजा और फोन कर कहा कि वीरेंद्र सिंह मुझे जान से खत्म करना चाह रहा है मुझे बचा सको तो बचा लो कहकर प्रियंका ने फोन काट दिया उसके बाद मेरे पुत्र दीपकसिंह ने वीरेंद्रसिंह को फोन किया तो वीरेंद्रसिंह ने कहा कि प्रियंका ने आत्महत्या कर ली है जिस पर मैं और मेरा परिवार महासिंहपूरा पहुंचा जहां मेरी पोती प्रियंका मृत अवस्था में पलंग पर पड़ी हुई थी।प्रियंका को वीरेंद्र सिंह ने दहेज में कार व अवैध संबंधों के चलते जान से मार डाला है जिसका फोन भी वीरेंद्रसिंह ने छुपा लिया था जिससे बड़ी मुश्किल से मैंने लिया उक्त रिपोर्ट पर पुलिस थाना भिनाय द्वारा भारतीय दंड संहिता की धारा 498 ए तथा 304 बी में मुकदमा दर्ज कर अनुसंधान करते हुए आरोपी पति वीरेन्द्र सिंह को गिरफ्तार कर न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close