राजस्थानी रामलीला में दशरथ कैकेयी संवाद और राम वनवास की लीला देख आंखें हुई नम,राजा दशरथ के दरबार में उठाई गई मायड़ भाषा मान्यता की मांग

 

ब्यूरो चीफ गोविन्द भार्गव

सूरतगढ़ — मायड़ भाषा राजस्थानी लोककला रंगमंच की तरफ से ऑनलाइन दिखाई जाने वाली राजस्थानी रामलीला की चौथी रात की लीला में दशरथ कैकयी संवाद और राम वनवास के दृश्य दिखाए गए । रंग कलाकारों के सजीव अभिनय को देखकर दर्शकों की आंखें नम हो गईं । दशरथ , कैकेयी , कौशल्या , सुमित्रा, मंथरा , केवट , राम , लक्ष्मण बने कलाकारों ने चरित्र में डूब कर अभिनय को जीवंत कर दिया जिसकी ऑनलाइन दर्शकों और अतिथियों ने खुले ह्रदय से सराहना की ।

चौथी रात की लीला के संवादों की बानगी

” दसरथ – क्यूं कोप भवन में बेठी हो , क्यूं भारी थानै घड़ी पल है ।
जिको थानै जीव सूं है प्यारो उणरौ राजतिलक कल है ।।
जै किणी बस्तु री मनस्या हैं तो म्हारी जान मांग तूं ।
पण उतार दे इण मौके उदासी रो ओ स्वांग तूं ।।

कैकयी – सतवादी हा राजा हरिश्चंद्र , जका सत कोनी छोड्यो संकट में ।
बां री सच्चाई रो दिवलो , जगमग करे है मरघट में ।।
दसरथ – राणी – राणी झोळी मांड , तेरी मांग भी लै , दान भी लै , राज भी लै , बनवास भी लै अर मेरा पिराण भी लै ।।
राम – ओ कोमल तन , कोमल मन , बठै घणा ई संकट है ।
बना में जी जंत , राक्सा , साँप – सळैटां रो डर है ।

सीता – जद दरसण सुख रा हुसी तो बन संकट किसो ।
सिंघणी जद शेर रै साथै है तो उणने डर किस्यो ।।
वशिष्ठ – राणी-राणी हूं सावधान क्यूं छेड़ रेयी तू सांगो है ।
तैं बनवास राम रो मांग्यो है , का सीता रो भी मांग्यो है ।। ”

दशरथ दरबार में उठी भासा मानता री मांग

मुख्य अतिथि शिक्षाविद गिरधारीलाल स्वामी ने भगवान राम जी की आरती कर लीला की शुरुआत की । रामलीला में दशरथ के दरबार में मायड़ भाषा राजस्थानी को मान्यता दिलवाने की मांग जोरदार ढंग से उठाई गई । दरबारी बने मनोज स्वामी ने राजस्थानी भाषा को व्यवहार की भाषा बनाकर पहले खुद मान्यता देने का आह्वान किया । उन्होंने देश दुनिया में बैठे मायड़ भाषा प्रेमियों से प्रार्थना करते हुए कहा कि राजस्थानी भाषा का पोषण और रक्षा हमें खुद करनी होगी ।

चौथी रात की लीला के कलाकार

राम – मनोज सुथार , लिछमण – प्रदीप बाजीगर , सीता – निखिल स्वामी , दशरथ – अमित कल्याणा , कौशल्या – नरेश शर्मा , कैकयी – सोनू सोनी , सुमित्रा – पवन भाटी , वशिष्ठ – इमरान , कैवट – देवभारती , मंथरा – राजकमल , निशादराज – सुजित , मंत्री – संदीप भांभू , लोकगीतो पर अरूण , खुर्शीद , पवन भाटी , सोनू अरोड़ा , देव भारती , निखिल अपने नृत्यो सें मन मोहा तो विक्की नंदा नें खूब हंसाया ।

निर्देशन मनोज स्वामी और अमरीश जंवरिया ने किया । सूरतगढ़ से लाइव प्रसारण का जिम्मा अनिल, अशोक, हरीश स्वामी निभा रहें । वहीं हनुवंतसिंह राजपुरोहित की अगुवाई में सत्यनारायण राजस्थानी आसोप , अचल सोनी लंदन , अरुण तापड़िया लखीमपुर , आकाश मोदी उड़ीसा , किरण राजपुरोहित जोधपुर , फौलाल प्रजापत बेंगलुरु , छैलू चारण छैल बीकानेर , हरीश हैरी बहलोलनगर की टीम ने इस प्रसारण को पूरी दुनिया तक पहुंचाया।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close