मौलाना बोले- नूपुर शर्मा की गिरफ्तारी तक जारी रहेंगे प्रदर्शन ,अग्निपथ योजना पर कसा तंज

ब्यूरो चीफ आर के जोशी

बरेली। भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी को लेकर बरेली में प्रदर्शन के दौरान आईएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को इस्लाम समझाने के लिए कलमा पढ़ने की सलाह दे डाली। इसके साथ ही उन्होंने नूपुर शर्मा की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है।

बताते चलें कि इत्तेहाद -ए-मिल्लत कौंसिल (आईएमसी) के प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खां ने पैगंबर मोहम्मद पर की गई विवादित टिप्पणी के विरोध में प्रदर्शन किया। मामले को भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा की गिरफ्तारी को लेकर प्रदर्शन किया। इस दौरान मौलाना तौकीर रजा खां ने प्रधानमंत्री और गृहमंत्री को इस्लाम समझाने के लिए कलमा पढ़ने की सलाह दे डाली। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को इस्लाम अपना लेना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने नूपुर शर्मा की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। इस्लामिया ग्राउंड में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बुलाए गए विरोध प्रदर्शन में मौलाना तौकीर ने कहा कि इस वक्त देश में मुसलमानों के साथ अन्याय हो रहा और यह बात वह पूरी दुनिया को बताएंगे। इस मौके पर मैदान में भारी भीड़ उमड़ी। हालांकि प्रशासन ने प्रदर्शन में सिर्फ 1500 लोगों के शामिल होने की अनुमति ही दे रखी थी।
पहुंचे उससे कहीं अधिक .

अग्निपथ योजना को लेकर मौलाना तौकीर ने कहा कि जब योजना का नाम ही अग्निपथ है तो आग लगनी तय ही है। उन्होंने युवाओं के समर्थन की भी बात कही।
सुरक्षा के कड़े इंतजाम
वहीं प्रदर्शन को लेकर इसके पहले सुबह से ही शहर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम रहे। पुराने शहर के मुख्य बाजार सैलानी की दुकानें बंद रहीं। रात से ही पीएसी तैनात है। पुलिस ने पिछले मामले से सीख लेते हुए सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए। श्यामगंज चौराहे पर आरएएफ व पीएसी को तैनात किया गया और बैरिकेडिंग लगाई गई हैं।
सिर पर हरी पट्टी लगाकर जताया विरोध
आइएमसी प्रमुख मौलाना तौकीर रजा खान ने पैगंबर मोहम्मद पर की गई टिप्पणी के विरोध में प्रदर्शन का आह्वान किया था। इसके लिए यौमे दुरूद के नाम से इस्लामिया मैदान में तीन बजे से पांच बजे तक धरना दिया गया। इसके लिए पुलिस ने सख्त इंतजाम किए। पैदल जाने वालो को कालीबाड़ी होते हुए निकाला गया। वाहनों के लिए चौकी चौराहा रामपुर गार्डन का रूट रखा गया। प्रदर्शन के लिए 1,500 लोगों को अनुमति मिली थी। किसी भी तरह की नारेबाजी की मनाही थी।
इसलिए प्रदर्शनकारियों ने सिर पर हरी पट्टी लगाकर विरोध जताया।
चप्पे-चप्पे पर फोर्स तैनात
श्यामगंज चौराहे पर आरएएफ व पीएसी को तैनात किया गया और बैरिकेडिंग लगाई गई। स्थानीय बाजार पूर्ण रूप से बंद हुआ है और वहां पर भी पीएसी को तैनात किया गया। पुराने शहर में सुबह से ही लोगों की आवाजाही कम रही और सन्नाटा छाया रहा। इसके साथ ही पुराने शहर के मुख्य बाजार सैलानी की दुकानें बंद रहीं, जहां रात से ही पीएसी तैनात है।

कार्यक्रम का नाम यौम- ए-दुरूद

विरोध प्रदर्शन को यौम-ए-दुरूद नाम दिया गया
है। इसमें आला हजरत खानदान के लोगों सहित कुछ खानकाहें और अनुयायी भी शामिल रहे। मीडिया प्रभारी मुनीर इदरीसी ने बताया कि राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया गया।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

Sorry, there are no polls available at the moment.

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close