अंडर पास निर्माण के लिए अड़चनें हुईं दूर, रेलवे ने नगर निगम को भेजा एस्टीमेट

ब्यूरो चीफ आर के जोशी 

बरेली। लंबे समय से सांसद से लेकर विधायक तक सिटी श्मशान भूमि पर प्रस्तावित अंडरपास बनवाने की कवायद में लगे हैं। दूसरी तरफ बीते दिनों बजट को लेकर पेंच फंसता नजर आया। अब रेलवे की तरफ से नगर निगम को पुल में आने वाली लागत का एस्टीमेट बनाकर भेजा गया है।

रेल अधिकारियों का कहना है कि सिटी श्मशान भूमि पर बनने वाले अंडरपास का नक्शा तैयार कर लिया गया है। इसमें पूरा पैसा नगर निगम द्वारा खर्च किया जाएगा। उत्तर रेलवे व पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा मिलकर निर्माण किया जाएगा। कुल 18 करोड़ रुपये का एस्टीमेट नगर निगम को बनाकर भेजा गया है। अधिकारियों का कहना है कि अंडरपास के ढांचे को लेकर आने वाली सभी अड़चनें भी दूर कर ली गई हैं।

बीते दिनों पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद संतोष गंगवार, पर्यावरण एवं वन मंत्री अरुण कुमार, कैंट विधायक संजीव अग्रवाल ने रेलवे व नगर निगम के अधिकारियों व जिलाधिकारी के साथ अंडरपास को लेकर मंथन किया था। साथ ही अंडरपास का नक्शा जल्द से जल्द फाइनल करने के निर्देश दिए थे।

अब रेलवे की तरफ से नया नक्शा व उसमें आने वाली लागत का एस्टीमेट बनाकर नगर निगम को भेजा गया है। नए नक्शे के मुताबिक अंडर पास के दोनों छोरों पर लगभग 90-90 मीटर अप्रोच रोड होगी। 70 मीटर भाग में पूर्वोत्तर रेलवे और उत्तर रेलवे की रेलक्राॅसिंगों के नीचे सेगमेंट बाक्स लगाकर टनल बनाई जाएगी।

कुल मिलाकर अंडरपास लगभग 250 मीटर का होगा। किला रोड की तरफ अंडर पास की सड़क सिग्ननल बिल्डिंग के पास खुलेगा, वहीं सिटी की ओर अंडरपास की सड़क बेनीपुर गांव में खुलेगी। किला की साइड रेलवे क्राॅसिंग पर अंडर पास का निर्माण पूर्वोत्तर रेलवे व श्मशान भूमि की साइड रेलवे क्राॅसिंग पर अंडरपास का निर्माण उत्तर रेलवे द्वारा किया जाएगा।
उधर, बरेली सिटी श्मशान भूमि पर बनने वाले अंडर पास को लेकर लंबे समय से कवायद जारी हैं। जनप्रतिनिधि खास तौर से लोगों की इस समस्या को गंभीरता से भी ले रहे हैं। सिटी श्मशान भूमि से पहले पूर्वोत्तर रेलवे व उत्तर रेलवे की रेलवे क्रासिंंगें पड़ती हैं। ऐसे में अधिकतर समय यह रेलवे क्राॅसिंग बंद रहने से आसपास के लोगों को दिक्कत होती है। सबसे बड़ी समस्या तब खड़ी हो जाती है जब लोग अपनों का अंतिम संस्कार करने श्मशान भूमि को जाते हैं।अंडरपास के लिए एस्टीमेट तैयार कर नगर निगम को भेज दिया गया है। इसका बजट नगर निगम को खर्च करना है। जबकि निर्माण पूर्वोत्तर रेलवे व उत्तर रेलवे द्वारा किया जाएगा। करीब 18 करोड़ रुपये का एस्टीमेट बनाकर नगर निगम को भेजा गया है-राजेंद्र सिंह, जनसंपर्क अधिकारी, इज्जतनगर मंडल।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

Sorry, there are no polls available at the moment.

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close