भावी पीढ़ी को रचनात्मक दिशा देने का कार्य करें साहित्यकार

ब्यूरो चीफ आर के जोशी 
बरेली । अखिल भारतीय साहित्य परिषद ब्रज प्रान्त के पदाधिकारियों का दो दिवसीय प्रशिक्षण वर्ग का उद्घाटन नगर के ख्यातिलब्ध चिकित्सक एवं समाजसेवी डा. केशव अग्रवाल, राष्ट्रीय महामन्त्री ऋषि कुमार मिश्रा, पवन पुत्र बादल, डा. नीलम राठी एवं डा. महेश पाण्डेय द्वारा दीप प्रज्ज्वलित कर एवं मां सरस्वती के प्रतिमा पर माल्यार्पण कर किया। वक्ताओं ने यह भी कहा कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवम् क्रान्तिकारियों के अमिट बलिदान की जानकारी साहित्य के माध्यम से हमारी नई पीढ़ी को देने का कार्य करना आज के समय की जरूरत है।समापन सत्र में शील ग्रुप के डॉ नवल गुप्ता मुख्य अतिथि थे।
प्रथम दिवस उद्घाटन सत्र में रुहेलखंड मेडिकल कॉलेज के प्रमुख डॉ केशव अग्रवाल ने कहा कि साहित्यकार हमारी युवा पीढ़ी को साहित्य के माध्यम से हम सबको सनातन संस्कृति, संस्कारों मानव मूल्यों एवं जीवम पद्धति से अवगत कराएं। प्रशिक्षण के प्रथम सक्ष में मुम्बई से आए राष्ट्रीय महामंत्री ऋषि कुमार मिश्रा ने कहा कि अखिल भारतीय साहित्य परिषद एक राष्ट्रव्यापी संगठन है। इसमें देश की 22 भारतीय भाषाओं के साहित्यकार जुड़े हुए हैं। यह एक वैचारिक अधिष्ठान है और देश में 695 जनपदों में उसकी शाखाएं है। द्वितीय सत्र में राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री एवं राष्ट्र धर्म मासिक के प्रबन्ध निदेशक पवन पुत्र बादल ने कहा कि परिषद साहित्य के माध्यम से समाज में व्यक्तित्व एवं चरित्र निर्माण का कार्य करती है। साहित्य हमारी युवा पीढ़ी को रचनात्मक दिशा देने कार्य करे यह परिषद का मुख्य उद्देश्य है।
राष्ट्रीय मन्त्री डॉ नीलम राठी ने प्रशिक्षण के तृतीय सत्र में साहित्य परिषद के कार्यक्रमों की विस्तार से विवेचना की।
प्रान्तीय अध्यक्ष साहित्य भूषण सुरेश बाबू मिश्रा ने कहा कि हमारी युवा पीढ़ी में इन्टरनेट के प्रति बढ़ता रुझान हमारी संस्कृति एवं संस्कारों के लिए खतरा है। साहित्यकारों को इस दिशा में चिंतन एवं मन्थन करने की आवश्यकता है। निर्भय सक्सेना ने राष्ट्रीय महामंत्री ऋषि कुमार एवम नीलम राठी जी को अपनी पुस्तक कलम बरेली की भेंट की ।
*स्वतंत्रता सेनानियों एवम् क्रान्तिकारियों की जानकारी साहित्य के माध्यम से नई पीढ़ी को दें*
दूसरे दिन के प्रथम सत्र मे राष्ट्रीय महामंत्री ऋषि कुमार मिश्रा ने कहा कि साहित्य का व्यापक स्वरूप हमारे वेदो मे ही निहित है । वैदिक साहित्य मे प्रकृति संरक्षण की अवधारणा समाहित है। हमें वर्तमान समय मे इस अवधारणा को साहित्य के माध्यम से जन जन तक पहुंचने का प्रयास करना है जिससे पृथ्वी पर प्रकृति एवं मानव अस्तित्व सुरक्षित रह सके ।
दूसरे सत्र मे राष्ट्रीय मंत्री प्रोफेसर नीलिमा त्रिपाठी ने प्रशिक्षण मे प्रतिभाग करने बाले पदाधिकारयो का स्वमूल्यांकन करवाया । उन्होंने परिषद के उद्देश्य पर विस्तार से प्रकाश डाला ।
समापन सत्र मे राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ पवन कुमार बादल ने कहा कि साहित्यकारों को ब्रज प्रांत के उन स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों एवम् क्रान्तिकारियों के अमिट बलिदान की जानकारी साहित्य के माध्यम से हमारी नई पीढ़ी को देने का कार्य करना चाहिए । उन्होंने कहा कि साहित्य परिषद इस प्रकार के संग्रहो के प्रकाशन का कार्य करेगा ।ब्रज प्रांत के साहित्यकारों को भी अखिल भारतीय साहित्य परिषद प्रोत्साहित करेगा। उन्होंने ब्रज प्रान्त की बोलियो लोकगीतों एवम् लोक परम्पराओ के संरक्षण का भी अवाहान किया ।
ब्रज प्रान्त के अध्यक्ष साहित्य भूषण सुरेश बाबू मिश्रा ने कहा किसी भी साहित्यकार की वही रचना पाठको मे लोकप्रिय होती है जो आम आदमी के मर्म को छूती है और वही रचना कालजयी बनती है जिसमे देश एवम् समाज के लिए कोई सकारात्मक सन्देश निहित होता है । इसलिए साहित्यकारों को लोक कल्याणकारी साहित्य का सृजन करना चाहिए ।
दूसरे दिन कार्यक्रम का शुभारम्भ उमेश चंद्र गुप्ता द्वारा प्रस्तुत सरस्वती वंदना से हुआ। प्रशिक्षण समापन सत्र के अंत मे समापन सत्र के मुख्य अतिथि डॉ एन के गुप्ता राष्ट्रीय महामंत्री ऋषि कुमार मिश्रा, राष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ पवन पुत्र बादल, राष्ट्रीय मंत्री प्रोफेसर नीलिमा त्रिपाठी, प्रदेश महामंत्री डॉ महेश पांडेय तथा अवध प्रान्त के साहित्यकार दिनेश मिश्रा को ब्रज प्रान्त की महामंत्री डा शशिबाला राठी कवि आनंद गौतम, डा एस पी मौर्या एवं राजीव श्रीवास्तव द्वारा स्मृति चिन्ह प्रदान कर एवं शाल उड़ाकर सम्मानित किया। उपजा प्रेस क्लब, बरेली अध्यक्ष डॉ पवन सक्सेना, निर्भय सक्सेना, संजीव कुमार शर्मा गंभीर, आशीष त्रिपाठी, राजीव शर्मा, रविन्द्र मिश्रा को भी शशि वाला राठी ने प्रमाण पत्र देकर भी सम्मानित किया गया
कार्यक्रम का संचालन जनपदीय संयुक्त मंत्री डॉ गोविन्द दीक्षित द्वारा किया गया ।
कार्यक्रम में प्रांतीय डा दीपांकर गुप्ता, राजीव श्रीवास्तव, निर्भय सक्सेना, एस पी मौर्य, डा सी पी शर्मा , अंजना अंजुम, उमेश चंद्र गुप्ता, पप्पू वर्मा, राम पाल सिंह, कमल सक्सेना , विकास सारस्वत, सुमित मिश्रा, अविनाश मिश्रा, राजबाला धैर्य, दिनेश मिश्रा, मनीराम, अरविन्द चौबे, राकेश सक्सेना वासुदेव मिश्रा, विमला गुप्ता, डॉ स्वाति गुप्ता, रोहित राजपूत, सहित ब्रज प्रांत के समस्त पदाधिकारी शामिल रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

Sorry, there are no polls available at the moment.

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close