धौलपुर –जिले में पटाखा विक्रय तथा प्रयोग पर प्रतिबंध, उल्लंघन करने पर एपिडेमिक एक्ट के तहत होगी दंडात्मक कार्यवाही

बाड़ी/धौलपुर से

बीरेंद्र चंसौरिया की रिपोर्ट

धौलपुर,कोरोना संक्रमण के दृष्टिगत रखते हुए पटाखा रहित दीपावली पर्व के आयोजन के संबंध में बैठक का आयोजन जिला कलेक्टर राकेश कुमार जायसवाल की अध्यक्षता में नगर परिषद सभागार में किया गया। बैठक दौरान जिला कलेक्टर ने कहा की कोरोना संक्रमण का प्रभाव निरंतर बढ़ रहा है जिसके कारण पूरे देश भर में एक लाख से अधिक लोग अपनी जान गवा चुके हैं कोरोना संक्रमण के 75 हजार से अधिक मामले प्रति दिन सामने आ रहे हैं। वर्तमान परिप्रेक्ष्य में ग्रीष्म ऋतु समाप्ति की ओर है तथा सर्दी के मौसम का आगमन हो रहा है। ऐसे में और अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि पटाखों के कारण उत्पन्न होने वाले प्रदूषण से अस्थमा विश्वास रोगियों इस स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है साथ ही ऐसे रोगियों की संख्या में विस्तार संभावित है कोरोना मरीजों के परिपेक्ष में देखा जाए तो उनके स्वास्थ्य पर भी पटाखों से निकलने वाले धुंआ का विपरीत प्रभाव पड़ सकता है ऐसे मरीज जो पॉजिटिव पाए जाने के उपरांत रिकवर हो चुके हैं उनके स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ सकता है कोरोना संक्रमण से मनुष्य का स्वसन तंत्र सबसे अधिक प्रभावित होता है इससे उनके जान को भी खतरा हो सकता है प्रदेश में लगातार कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. ऐसे में पटाखों से होने वाले प्रदूषण पर रोक जरूरी है इसलिए यह नितांत आवश्यक है कि आगामी दीपावली पर्व पर किसी भी प्रकार के पटाखो का प्रयोग नही करके अपने सामाजिक दायित्वों का निर्वहन किया जाए तथा केवल दीप प्रज्ज्वलित करके दीपावली पर्व मनाए ।इस दौरान दीपावली के पर्व को पटाखा रहित दिपावली के रूप में मनाने का सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि एपिडेमिक एक्ट के विभिन्न प्रावधानों के तहत जिले में पटाखों का प्रयोग पूर्णतया प्रतिबंधित रहेगा साथ ही इसका भंडारण, विक्रय तथा प्रयोग पूर्ण रूप से दंडनीय अपराध होगा। उपखंड अधिकारी तथा तहसीलदार को इस सम्बंध में निर्देश प्रदान किये ताकि कही भी इस प्रकार पटाखों का विक्रय, भंडारण न हो सके। उन्होंने लाइसेंस धारी पटाखा व्यापारियों को नोटिस तामिल करवाकर पटाखों के विक्रय, भंडारण नही करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि इस बार किसी भी व्यापारी को पटाखे विक्रय हेतु अस्थायी लाइसेंस जारी नही किया जाएगा। उन्होंने कहा कि छावनी,पचगांव सहित अन्य जगहों पर अवैध रूप से पटाखा निर्माण की जानकारी संज्ञान में आई है इन जगहों पर अगर कोई व्यक्ति पटाखे बनाते या विक्रय करते हुए पाया जाता है तो उसे एपिडेमिक एक्ट के अंतर्गत गिरफ्तार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अगर कोई व्यक्ति अन्य जिलों जैसे मुरैना,आगरा से पटाखे लाकर विक्रय करता है तो उसकी सूचना जिला कंट्रोल रूम न.05642-220033 पर करे ताकि उस पर कार्यवाही की जा सके । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री महोदय द्वारा कोरोना संक्रमण के प्रभाव को नियंत्रित करने के लिए जन जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है अतः दीपावली के अवसर पर हम सभी पटाखा रहित दीपावली मना कर कोरोना जन जागरण आंदोलन अभियान के मूल मंतव्य को सफल बनाये।इस दौरान उन्होंने सभी संगठन पदाधिकारियों से कोरोना संक्रमण के रोकथाम हेतु जन साधारण में मास्क के प्रयोग करवाने तथा मास्क वितरण में जिला प्रशासन का सहयोग करने की अपील की। बैठक के दौरान उपखंड अधिकारी धीरेंद्र सिंह,तहसीलदार भगवतशरण त्यागी, आयुक्त नगरपरिषद सौरभ जिंदल,विभिन्न सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी, स्वयं सेवी सगठनों के पदाधिकारी मौजूद रहे।
*पटाखों से निकलने वाला धुंआ कोरोना रोगियों के लिए हानिकारक*
उन्होंने कहा कि दीपावली के दिन पटाखों से निकलने वाले धुँए से होने वाला प्रदुषण बहुत ही हानिकारक होता है जो मनुष्य के दिल, श्वसन तंत्र पर अधिक प्रभाव डालता है. कोरोना महामारी के इस समय मे पटाखों से कोरोना मरीजों की संख्या मे बढ़ोतरी भी हो सकती है. पटाखों से निकलने वाले धुए में सल्फर, कार्बन मोनोऑक्साइड ,लेड जैसे हानिकारक तत्व होते है जिनसे अस्थमा, सीओपीडी इत्यादि के मरीज बढ़ने के कारण कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए भी परेशानी उत्पन्न हो सकती है और ऐसे वक़्त मे पटाखों से होने वाला प्रदुषण कोरोना मरीजों के लिए और भी हानिकारक साबित हो सकता है.

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close