महाराष्ट्र–जलगांव के बोरखेड़ा में चार मासूम बच्चों की कुल्हाड़ी से हत्या,भादली में भी पति,पत्नी समेत 2 बच्चों की हुई है हत्या,अभी तक नहीं मिले आरोपी   

जलगांव,महाराष्ट्र से,

सुनील कुमार ठाकुर

जलगांव –जिले की रावेर तहसील स्थित बोरखेड़ा ग्राम इलाके में रात के समय किसी ने कुल्हाड़ी से 4 बच्चों की हत्या कर दी.सवेरे 8 बजे के समय यह घटना उजाले में आयी.घटना को लेकर जलगांव जिले में तहलका मचा हुआ है.इससे पहले लगभग एक से डेढ़ साल पहले जलगांव शहर से करीब के ही भादली ग्राम में पति,पत्नी और दो बच्चें ऐसे चार लोगों की हत्या हुई है.पुलिस अभी तक आरोपियों तक नहीं पहुँच पायी है.
    रावेर से मिली जानकारी के नुसार बोरखेड़ा क्षेत्र के एक खेत में मजदूर परिवार रहता है.मजदूर पति–पत्नी किसी काम से दूसरे गाँव गयें हुए थे.जबकि घर पर चार बच्चें सविता मेहताब भिलाला(14 साल),राहुल भिलाला(11),अनिल (8)और रानी भिलाला(5 साल)यह थे.रात के समय बच्चों ने खाना खाया और वह अपनी कुटियाँ में सो गयें.सवेरे 8 बजे खेत मालिक कुटियां में गया तो उसे वहां चारों बच्चें लहूलुहान हालत में पड़े मिले.झोपडी में चहुंओर खून ही खून फैला हुआ था.किसी ने बड़ी ही बेरहमी से साथ कुल्हाड़ी से चारों बच्चों की हत्या कर दी थी.खेत मालिक ने तत्काल घटना की जानकारी गांववालों को और पुलिस को दी.मौके पर पहुंची पुलिस ने डॉग स्कॉड से सारा इलाका छान मारा पर ठीक जानकारी नहीं मिली.घटना की गंभीरता देखते हुए पुलिस अधीक्षक प्रवीण मुंडे और अपर पुलिस अधीक्षक चंद्रकांत गवली समेत पुलिस राब्ता मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल में लगा हुआ है.बहरहाल घटना को लेकर नागरिकों ने बड़ा रोष जताया.आरोपियों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग ग्रामीण कर रहे है.                      
     मालूम हो कि इससे पहले शहर से करीब के ही भादली गांव में पति,पत्नी समेत 2 बच्चों की कुल्हाड़ी से हत्या होने की घटना घटी है.इस घटना की जांच जलगांव समेत धुलिया,नंदुरबार और नाशिक पुलिस ने की फिरभी अभी तक आरोपियों का सुराग नहीं मिला.भादली में लगभग एक से डेढ़ साल पहले रात के समय घरमें सो रहे पति,पत्नी और उनके बेटे और बेटी की अज्ञात आरोपी ने कुल्हाड़ी से हत्या कर दी थी.इस घटना से सारा जलगांव जिला हिल गया था.तत्कालीन पुलिस अफसरों ने घटना को गंभीरता से लेते हुए भादली में ही डेरा डाले रखा.दरमियान पीड़ितों के पड़ोसियों,रिश्तेदारों में से लगभग दस से बीस लोगों के नाम संदेह के रूपमें सामने आये थे.पुलिस ने यह सभी संदिग्धों को जलगांव बुलाकर उनसे कड़ाई के साथ पूछताछ की पर किसी ने भी ठोस जानकारी पुलिस को नहीं दी.पुलिस के हाथ पुख्ता सबूत भी ना होने से यह संदिग्धों को छोड़ना पड़ा.घटना को लेकर सामाजिक,राजनितिक लोगों ने पुलिस को आड़े हाथो लिया.यह देख जलगांव पुलिस की सहायता के लिए धुलिया,नाशिक पुलिस को भी भेजा गया इसके बावजूद आज तक घटना की खोजबीन होकर आरोपियों को पकड़ा नहीं गया.रावेर तहसील में जो घटना घटी है यह घटना भी भादली हत्याकांड से मिलती-जुलती है.भादली का परिवार यह व्यवसायी था.आज की घटना में मारे गए बच्चें यह गरीब मजदूर परिवार से है.उनकी ना तो किसी से दोस्ती और ना ही किसी से दुश्मनी है.इसके बाद भी इतनी बेरहमी से उनकी हत्या क्यों और किसने की यह ढूंढना अब पुलिस के लिए चुनौती भरा मामला है.बहरहाल घटना को लेकर रावेर तहसील में गहरा रोष जताया जा रहा है.वरिष्ठ अफसरों से लोग सीधे सवाल करने लग गए है.लोगों का कहना है कि तहसील में सरेआम हत्या की घटनाएं बढ़ने के बावजूद पुलिस इस ओर गंभीरता से ध्यान क्यों नहीं दे रही है?.
—————————   
Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close