पल्ली लोहावट के अंतर्राष्ट्रीय योग खिलाड़ी रमेश बिश्नोई के जज्बे को सलाम,अब तक योग में चार स्वर्ण पदक, एक रजत और तीन कांस्य पदक हासिल कर गांव और देश का नाम कीया रोशन.

लोहावट जोधपुर,महेश बिश्नोई की रिपोर्ट
जोधपुर —खम ठोक ठेलता है जब नर, पर्वत के जाते पांव उखड़ मानव जब जोर लगाता है तो पत्थर भी पानी बन जाता है!
हौसले बुलंद हो तो इंसान बहुत कुछ कर सकता है, यह बात सच साबित की है लोहावट उपखंड के पल्ली गांव निवासी रमेश बिश्नोई ने!
ग्रामीण परिवेश में पले बढ़े रमेश बचपन से ही योग साधक रहे हैं, एवं बड़े होते होते योग विद्या में रुचि बढती गई!
रमेश ने गांव से जोधपुर शहर में आकर पढ़ाई की लेकिन योग से कभी दूर नहीं हुआ! उसने बचपन में ही योग को दिनचर्या का अपना हिस्सा बना लिया था!
रमेश ने सर्वप्रथम 2015 में योग फेडरेशन ओफ इंडिया में भाग लेना शुरू किया तो फिर पिछे मुड़कर नहीं देखा!
राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता के साथ-साथ फेडरेशन कप में भी दो बार चैंपियन रह चुके हैं !
रमेश 2019 में एशियन चैंपियन बने जिसमें एक गोल्ड एक ब्रोंज मैडल हासिल कीया!
रमेश बिश्नोई का आगामी मई 2021 में होने वाले एशिया फेडरेशन के लिए भी चयन हो चुका है!
योग प्रतियोगिता में रमेश विश्नोई ने अब तक चार स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य पदक हासिल किए हैं!
*पांच अन्य योग साधकों को भी नेशनल लेवल तक खेलाया*
अंतरराष्ट्रीय स्तर के योग साधक एवं योग खिलाड़ी रमेश बिश्नोई 2015 से जोधपुर में पावटा सी रोड़ स्थित आर्य समाज के भवन में योग साधकों को निशुल्क प्रशिक्षण भी दे रहे हैं!
रमेश की प्रतिभा जोश जज्बा देखकर कई योग साधक जुड़ते गए जिनमें इनके शिष्य पांच युवा साधकों को नेशनल तक खिला चूकें है,
जिनमें एक खिलाड़ी नेशनल चैंपियन भी रह चूका है!
वहीं राज्य स्तर तक इनसे प्रशिक्षित 10 साधक भाग ले चुके हैं! वर्तमान में रमेश के पास 10 से अधिक निशुल्क योग प्रशिक्षण सीख रहे हैं!

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close