मसूदा –आदर्श विद्या मंदिर में 1 से 12 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों को पिलाई गई रोग प्रति रोधक क्षमता बढ़ाने वाली दवाई

राजस्थान संपादक एवं व्यूरो चीफ
यतेन्द्र पाण्डेय्
अजमेर व्यूरो चीफ नरेन्द्र आचार्य

मसूदा अजमेर से शिवकुमार की रिपोर्ट
मसुदा — आदर्श विद्या मंदिर में नववर्ष पर पिलाई गई रोग प्रतिरोधक दवाई।आदर्श विद्या मंदिर  के प्रधानाचार्य  कैलाश चंद बेरवा के अनुसार नव वर्ष के अवसर पर रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए पिलाई गई स्वर्ण प्राशन दवा। मसूदा विद्या भारती विद्यालय आदर्श विद्या मंदिर माध्यमिक विद्यालय में आंग्ल नववर्ष के अवसर पर मसूदा व आसपास के गांवो के 1 से 12 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को कोराना महामारी के बचाव के लिए रोग प्रतिरोधक दवा स्वर्ण प्राशन का सेवन करवाया गया । आयुर्वेद के अनुसार स्वर्ण भस्म शरीर के प्रत्येक टिस्सु और कोशिका में प्रवेश कर वहां के असंतुलन या विकृति को सही करती है। यह ड्रॉप पुष्य-नक्षत्र पर पिलाई जाए, तो इसके विशेष चमत्कार देखने को मिलते हैं, क्योंकि इस दिन ग्रहों की शक्तियां ज्यादा होती हैं। पुष्य नक्षत्र हर महीने में एक बार आता है, इसलिए पुष्य नक्षत्र पर बच्चों को लगातार 5 से 7 साल तक यह ड्रॉप पिलाने से शरीर के प्रत्येक अंग-प्रत्यंग की शक्ति और क्षमताओं की वृद्धि करती है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाती है। स्वर्ण-प्राशन एक आयुर्वेदीय रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की विधि है। जिस प्रकार एलोपैथिक चिकित्सा पद्धति में बीमारी से बचाव के लिए टीकाकरण प्रयोग किया जाता है उसी प्रकार आयुर्वेद में इसका उपयोग किया जाता है। पुष्य नक्षत्र में इस दवा का प्रभाव और बढ़ जाता है। विद्या भारती द्वारा यह दवा पुष्य नक्षत्र यानी 1 जनवरी 2021 को पिलाई गई। दवा पिलाने के लिए अभी तक 200 बच्चों का पंजीयन हो चुका हैउन्हें दवा पिलाई गई हैं ।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close