किरन ग्रुप गांधीधाम के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता को मातृभूमि से लगाव,छौंकरवाडा कलां पीएचसी का कायाकल्प,प्रेरणा के श्रोत बने द्वारिकाप्रसाद गोयल

विष्णु मित्तल की रिपोर्ट
भरतपुर , किरन ग्रुप गांधीधाम गुजरात के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता का भले ही जन्म गांधीधाम में हुआ,लेकिन इनके पिता नौरतमल गुप्ता की जन्मभूमि भुसावर उपखण्ड के गांव छौंकरवाडा कलां है। चेयरमेन गुप्ता को परिवार का निकास यहां से होने पर मातृभमि से लगाव हो गया,जिन्होने गांव की पीएचसी का कायाकल्प ही करवा डाला,रोगी एवं उनके साथ आने वाले परिजनों को छाया,विश्राम,पेयजल आदि की सुविधाएं मुहैया करा दी और पीएचसी को हरियाली युक्त बनाने को 251 छाया एवं सजावटी पौधा लगवाए और विश्राम स्थल का निर्माण के अलावा मय आरओ के वाटर कूलर,पंखा,कूलर,कुसियां आदि प्रदान किए। गांव के पूर्व सरपचं एवं पूर्व जिला प्रमुख द्वारिकाप्रसाद गोयल ने बताया कि गांधीधाम गुजरात प्रान्त तथा छौंकरवाडा कलां के मूल निवासी किरन ग्रुप के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता ने गांव में साल 1996-97 से आज चिकित्सा, शिक्षा,पेयजल,मोक्षधाम, धार्मिक एवं समाज के हित में अनेक कार्य किए और शक्तिधाम व श्री राधा कृष्ण (गोपाल जी ) मन्दिर का जीर्णोद्वार तथा विश्राम व सत्संग भवन का निर्माण कराया। उन्होने बताया कि गुप्ता ने साल 2020 में छौंकरवाडा कलां पीएचसी पर रोगी व उनके साथ आने वाले परिजनों की बैठक व्यवस्था के लिए नौरतमल विश्राम स्थल का निर्माण कराया और छाया वास्ते 251 पौधा लगवाएं। आरओं सहित वाटर कूलर,ठण्डी हवा को कूलर, पंखा,कुर्सियां आदि उपलब्ध कराए। साथ ही ग्राम पंचायत के माध्यम से क्षेत्रिय विधायक व राज्यमंत्री भजनलाल जाटव द्वारा एमएलए कोष से करीब 5 लाख की राशि से चारदीवारी का निर्माण कराया।
-पीएचसी से सीएचसी की तमन्ना
किरन ग्रुप के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता एवं पूर्व जिला प्रमुख द्वारिकाप्रसाद गोयल सहित गांव के गणमान्य नागरिकों की एक ही तमन्ना है कि गांव की पीएचसी को सीएचसी में क्रमोन्नत कराने की। पूर्व सरपचं नेमीसिंह ने बताया कि गुप्ता एवं गोयल द्वारा चिकित्सा,शिक्षा,धार्मिक,पेयजल आदि क्षेत्र में उल्लेखनीय काम कराऐ जा रहे है। गांव की पीएचसी जयपुर नेशनल हाइवे-21 पर स्थित है और दो दर्जन से अधिक गावं के 100 से अधिक रोगी व प्रसूता महिलाए प्रतिदिन उपचार,टीकाकरण व प्रसव को आती है तथा सडक हादसा के घायल प्राथमिक उपचार को आए दिन भर्ती होते है। गावं के मूल निवासी रमेशचन्द गुप्ता सहित अन्य भामाशाहों का सहयोग चल रहा है।
पिता की जन्मभूमि का कर्जदार
किरन ग्रुप के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता ने बताया कि साल 1935 में मेरे पिता नौरतमल करीब 4 साल की आयु में छौंकरवाडा कलां से गांधीधाम चले गए,जहां पिता ने रेल्वे में नौकरी की। पिता के कहने पर साल 1996-97 में पहली बार गांव छौंकरवाडा कलां आया,जहां मेरी मुलाकात तत्कालीन सरपचं द्वारिकाप्रसाद गोयल से हुई,जिन्होने मेरे परिवार की कुलदेवी का मन्दिर दिखाया तथा परिवार के लोगों से मिलवाया। तब से आज तक मातृभूमि से लगाव हो गया। साल में पाचं आता हूं और फरवरी माह में परिवार सहित आते है। मातृभूमि से लगाव होने पर शिक्षा, चिकित्सा,पेयजल,मोक्षधाम,धार्मिक स्थल आदि का विकास एवं उत्थान करा रहा हूं और गांव के पाचं सरकारी स्कूलों को साल 2015 से शिक्षा वास्ते गोद ले रखा है,प्रतिसाल स्कूल के कक्षा एक से 12 वीं तक के समस्त छात्र-छात्राओं स्कूल की यूनिफार्म,गर्म कपडा,जूता-जुर्राव,पाठय सामग्री सहित स्कूल को शेक्षिक उपकरण व फर्नीचर आदि दिए जा रहे है।
पूर्व सांसद कोली ने किया अवलोकन
पूर्व सांसद रामस्वरूप कोली ने गांव छौंकरवाडा कलां की पीएचसी का कायाकल्प होने के बाद अवलोकन किया।जिन्होने भामाशाह एवं किरन ग्रुप गांधीधाम के चेयरमेन रमेशचन्द गुप्ता के द्वारा कराए कार्य की सराहना की। इनके साथ पूर्व जिला प्रमुख द्वारिकाप्रसाद गोयल,पूर्व सरपचं नेमीसिंह,सतेन्द्र चैधरी,नीरज कोली आदि मौजूद रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close