अलवर में ACB की बड़ी कार्रवाईः 3 लाख की रिश्वत लेते DSP और उसका ड्राइवर गिरफ्तार

राजस्थान संपादक एवं व्यूरो चीफ
यतेन्द्र पाण्डेय्

लक्ष्मणगढ़ से गिर्राज प्रसाद सोलंकी की रिपोर्ट
अलवर  —-जयपुर एसीबी की स्पेशल टीम ने अलवर में बुधवार सुबह कार्रवाई करते हुए अलवर के डिप्टी एसपी सपात खान और उनके पूर्व ड्राइवर को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। इस मामले में अरावली विहार थाना प्रभारी जहीर अब्बास को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। वहीं शिकायतकर्ता ने अरावली विहार थाना प्रभारी जहीर अब्बास, डिप्टी एसपी शफात खान और डिप्टी एसपी के पहले ड्राइवर रहे असलम को गिरफ्तार किया गया है।मिली जानकारी के अनुसार–तिजारा क्षेत्र के रहने वाले परिवादी राशिद खान ने अलवर ग्रामीण सीओ सपात खान और पहले उनके ड्राइवर रहे असलम खान और अरावली विहार थाना प्रभारी जहीर अब्बास के खिलाफ झूठे मुकदमों में फसाने और मुकदमों से बरी करने के लिए 13 लाख रुपए की रिश्वत मांगने का आरोप लगाया है।साथ ही जयपुर एसीबी को इस मामले की लिखित शिकायत दी गई। 5 जनवरी को राशिद ने इस मामले की शिकायत जयपुर स्पेशल एसीबी टीम को दी. जिसके बाद अलवर एसीबी थाने में मुकदम दर्ज किया गया।
इस पूरे मामले का सत्यापन कराया गया। इस मामले में शफात खान के ड्राइवर विद्या लाल ने 3 लाख की रिश्वत लेकर परिवादी को बुलाया।इसी दौरान रिश्वत लेते हुए एसीबी की टीम ने बुधवार सुबह डिप्टी एसपी सपात खान और उनके ड्राइवर रहे असलम खान को रंगे हाथ गिरफ्तार किया है, जबकि अरावली विहार थाना प्रभारी जहीर अब्बास को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।
यह पूरी कार्रवाई स्पेशल इन्वेस्टिगेशन विंग भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो जयपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक संजीव नैन के निर्देशन में की गई। संजीव ने बताया कि इस मामले में तीन लाख की रिश्वत लेते हुए सपात खान को रहे हाथ उनके घर से गिरफ्तार किया गया है। असलम सपात खान का पहले ड्राइवर रहा करता था।इस समय हाल में वो पुलिस लाइन में ड्राइवर के पद पर कार्यरत है। दोनों लोगों को पूछताछ करते हुए उनके घर और अन्य जगह पर जांच पड़ताल की जा रही है।इस पूरी प्रक्रिया में उप अधीक्षक चित्रगुप्त महावर मीणा, विनोद कुमार, अनिल कुमार, अनिल यादव, रामपुर सिंह सहित एसीबी टीम के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे. अलवर में जयपुर एसीबी टीम की बड़ी कार्रवाई बताई जा रही है।

विशेष रुप से शिकायतकर्ता ने बताया कि लंबे समय से डिप्टी एसपी और अरावली विहार थाना प्रभारी उनके परिवार के लोगों को झूठे मामलों में फंसा रहे थे। कई बार पहले भी यह लोग 10 से 12 लाख रुपए ले चुके हैं। परिवार के अन्य लोगों को भी झूठे मुकदमों में फंसाकर पैसे ऐंठने का काम यह लोग लंबे समय से कर रहे हैं। पुलिस इस मामले की जांच पड़ताल में जुटी है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close