वनविभाग की भूमि से अतिक्रमण हटाने को लेकर ग्रामीणों व प्रशासन में टकराव ,प्रशासन व ग्रामीणों में पथराव, जिसमें करीब 5 ग्रामीण व 2 पुलिस कर्मी चोटिल हो गये,विधायक जोगेन्द्र अवाना ने गांव रायपुर पहुचकर समझाईश की

राजस्थान संपादक यतेन्द्र पाण्डेय्

वैर भरतपुर से महेश पाठक की रिपोर्ट

भरतपुर —जिले के वैर के गांव रायपुर में वन विभाग की भूमि से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के दौरान प्रशासन व ग्रामीणों में पथराव हो गया। जिसमें करीब 5 ग्रामीण व 2 पुलिसकर्मी चोटिल हो गये। प्रशासन को भीड ग्रामीणों को खदेडने के लिये अश्रु गैस के गोले छोडने पडे। दो घंटे तक पथराव व अश्रुगैस के गोले छोडने के बाद प्रशासन को पीछे हटना पडा। प्रशासन के पीछे हटने पर ग्रामीणों ने प्रशासन के दस्ते का पीछाकर कई गाडियों को पथराव कर क्षतिग्रस्त कर दिया। सूचना मिलने पर नदबई विधायक जोगेन्द्र अवाना ने गांव रायपुर पहुचकर मामले की जानकारी ली।गांव रायपुर में वनविभाग की भूमि पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करने में डीएफओ मोहित कुमार गुप्ता के नेतृत्व में एसडीएम अमित वर्मा ,सीओ निहालसिंह राजावत,कार्यवाहक तहसीलदार सुरेश चंद ,सीआई हरलाल मीना ,रेंजर लाखनसिंह ,फोरेस्टर राहुल फौजदार भारी पुलिस जाब्ते के साथ गांव रायपुर पहुचे। जहां पहले ही पहाडी पर ग्रामीण एकत्रित थे। ग्रामीणों से प्रशासन ने वार्ता की।लेकिन वार्ता सफल नही होने पर प्रशासन ने जैसे ही कार्यवाही करना शुरू किया। तो पहाडी पर मौजूद ग्रामीणों ने पथराव शुरू कर दिया। पथराव होने पर मौके पर जेसीबी में तोडफोड होने से जेसीबी मौके से फरार हो गई। पुलिस को भी अश्रु गैस के गोले छोडने पडे। यह हालात करीब दो घंटे तक बने रहे तथा ग्रामीणों व प्रशासन के बीच पथराव व अश्रु गैस के गोले छोडना जारी रहा।काफी इंतजार के बाद जेसीबी नही आई तो वनविभाग के कर्मचारियों ने अपने स्तर पर ही कार्मिकों की सहायता से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही करने की कोशिश की।लेकिन सफलता नही मिली। अंत में जस की तस स्थिति को छोडकर प्रशासन को बैरंग लौटना पडा।वही ग्रामीणों ने विधायक अवाना को अवगत कराते हुये पशु चारा कडबी जलाने व निर्दयता से तोडफोड करने ,कई लोगो को चोटिल करने का प्रशासन पर का आरोप लगाया।
नदबई विधायक जोगेन्द्र सिंह अवाना ने कहा कि अतिक्रमण की जो बात है वह नई बात नही है। रायपुर में अतिक्रमण के मामले में जिला कलेक्टर नथमल डिडेल से बात की थी। मामले को बैठकर बातचीत के जरिये हल किया जा सकता है। रायपुर आकर बडा दुख हुआ कि एक तरफ अशोक गहलोत की सरकार बडे बडे फेसले लेती है।गुर्जर आरक्षण को लेकर गोलियां तक नही चलवाई। बसुंधरा की सरकार में 72 लोगो को मरवा दिया।यहां के अधिकारी सरकार को बदनाम करने का काम कर रहे है। कई जनों के चोटे आई है। हाॅस्पीटल में भर्ती करवाया गया है। जो अधिकारी अशोक गहलोत की सरकार को बदनाम करने का काम कर रहे है।उनके विरूद्ध मुकदमा दर्ज करवाया जायेगा तथा दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही करवाई जायेगी

दरमियान हमारे राजस्थान ब्यूरो चीफ यतेंद पांडेय ने दी खबर के अनुसार वैर  वन विभाग के डी एफ ओ, रेंजर बयाना , फॉरेस्टर सहित चार अधिकारियों के विरूद्ध मारपीट व आगजनी करने का मामला दर्ज कर दिया गया है। वैर के रायपुर गांव के एक व्यक्ति ने वैर थाने में कराया मामला दर्ज।रायपुर में अतिक्रमण हटाने मय जाप्ता गए थे अधिकारी।पुलिस जुटी जांच में, वैर के रायपुर गांव का मामला।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close