2 केएनजे गौशाला में सुन्दरकाण्ड पाठ का आयोजन,गौ सेवा समिति द्वारा आयोजित सुन्दरकाण्ड पाठ में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल

राजस्थान संपादक यतेन्द्र पांडेय 

हनुमानगढ़ से

राजरतन पारीक की रिपोर्ट

हनुमानगढ़  — यहां से निकटवर्ती ग्राम पंचायत 2 के एनजे स्थित गौशाला में हुए विकास कार्यों के अवसर पर गौशाला में सुन्दरकाण्ड पाठ का आयोजन किया गया। गौ सेवा समिति द्वारा आयोजित सुन्दरकाण्ड पाठ में बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।इस दौरान गौ सेवा समिति के पदाधिकारियों ने ग्राम वासियों ने गौशाला के सहयोग हेतु आगे आने के लिए कहा। इससे पूर्व सुन्दरकाण्ड पाठ का शुभारंभ लक्ष्मण प्रधान, पूर्व उपसरपंच ओमप्रकाश, सुभाष सिहाग, सुक्खा गिल वार्ड पंच, समाजसेवी प्रदीप पाल ने दीप प्रज्जवलित कर किया। सुन्दर काण्ड पाठ की महिमा बताते हुए पूर्व उप सरपंच ओमप्रकाश ने बताया कि सुंदरकांड की महिमा अन्यतम है। मान्यता है कि ‘सुंदरकांड’ के पाठ से हनुमान जी अति प्रसन्न होते हैं और भक्तों की विपदा तुरंत हर लेते हैं. कलियुग में ‘सुंदरकांड’ का पाठ तत्काल लाभ दिलाता है। पत्रकार प्रदीप पाल ने बताया कि ‘सुंदरकांड’ में रावण द्वारा हरण की गई माता सीता के खोज अभियान का वर्णन है। दरअसल सीता का हरण करने वाले रावण की लंका तीन पर्वतों (त्रिकुटाचल) पर बसी हुई थी। जिसमें से तीसरे पर्वत का नाम सुंदर पर्वत था। जहां स्थापित अशोक वाटिका में रावण ने माता सीता को रखा था, यहीं पर हनुमान और सीताजी की भेंट हुई थी। यह मुलाकात रामचरित मानस का सबसे अहम हिस्सा है। इसलिए इस पूरे अध्याय का नाम ‘सुंदरकांड’ रखा गया। श्रीरामचरितमानस के सुंदरकांड अध्याय में राम भक्त हनुमान की महिमा और शक्ति का विस्तार से वर्णन किया गया है। सुन्दरकाण्ड पाठ का समापन अवसर पर ग्रामवासियों में प्रसाद का वितरण किया। इस दौरान गौ सेवा समिति के कृष्ण चाहर, धर्म सिंह, आशा शाक्य, मंगू पटोदिया, अमरजीत सिंह, मुक्की, शंटी, डॉ. दिनेश, रामचन्द्र, जसपाल, मलकीत सिंह, नानक सिंह, राजू भगत, लाधूसिंह रमेश पूनिया, रमेश कुमार वार्ड पंच पति आदि उपस्थित थे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button

Website Design By Bootalpha.com +91 84482 65129

Close